क्या आप जानते है भारत में कितने नस्ल की गाय पाई जाती है ?

भारतीय संस्कृति में गाय का महत्वपूर्ण स्थान है। यहाँ पर गाय को माता के रूप में पूजा जाता है। आज हम इस लेख में भारत में पाई जाने वाली देसी गाय की नस्ल के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। आइये जानते है भारत में कितने नस्ल की गाय पाई जाती है ? गाय का दूध बहुत फायदेमंद होता है। ऐसा नहीं है कि भारत में विदेशी गाय की नस्ल नहीं पाई जाती लेकिन देसी भारतीय गाय की बात ही अलग है।

देशी गाय की पहचान

देसी गाय का रंग ज्यादातर सफ़ेद, काला, लाल और भूरा होता है है। इसके आलावा भी गाय के लाल-सफ़ेद, काला-लाल और भी कई मिक्स रंग हो सकते है। भारतीय गाय की पीठ पर कूबड़ होता है। यह इसकी महत्वपूर्ण पहचान है।

देसी भारतीय गाय के सींग लम्बे होते है और इनके कान भी थोड़े चौड़े रहते है।

भारत में कितने नस्ल की गाय पाई जाती है? | How many type of indian desi cow breed

भारतीय पशु आनुवंशिक संस्थान ब्यूरो के अनुसार भारत में करीब 43 प्रकार की देसी गाय की नस्लें पाई जाती है। भारत के विभिन्न क्षेत्रों में अलग अलग नस्ल की गायें पाई जाती है जिनकी अपनी अलग पहचान होती है। आइये शुरू करते है।

1. साहीवाल गाय

Sahiwal Cow at Dadijifoods.online

साहीवाल गाय का मूलस्थान हरियाणा और उत्तर प्रदेश का क्षेत्र है। यह गाय दूध के मामले में बहुत ही अच्छी है। यह करीब एक दिन में 12 से 18 लीटर तक दूध देती है। साहीवाल गाय लम्बे समय तक दूध देने वाली गायों में से एक है। इसका रंग ज्यादातर लाल होता है। लेकिन बहुत सी गाये गहरे भूरे या सफेद धब्बे वाली भी होती है।

2. राठी गाय

Rathi gaay at Dadijifoods.online

राठी गाय का मूलस्थान गुजरात और पश्चिमी राजस्थान है। यह करीब एक दिन में 50 लीटर तक दूध देती है। इसका देसी गाय की नस्लों में महत्वपूर्ण स्थान है। इसका भूरा या काला रंग के साथ साथ सफेद पैच भी रहते है।

3. गिर गाय

Gir cow at Dadijifoods.online

गिर गाय एक प्रसिद्ध भारतीय गाय है। यह भारत राज्य के गुजरात में काठियावाड़ क्षेत्र में सर्वाधिक पाई जाती है। यह इसका मूलस्थान है। दूध के मामले में भी बेहतरीन है। यह करीब 50 लीटर तक दूध देती है। गिर गाय का रंग गहरा लाल या चॉकलेट-भूरे और काला सफेद होता है।

4. लाल सिंधी गाय

lal sindhi

लाल सिंधी गाय का मूल स्थान पंजाब, हरियाणा और तमिलनाडू का क्षेत्र है। इसका रंग ज्यादातर लाल होता है। दूध के मामले में यह अच्छी नस्ल की गाय है। यह करीब 30 से 35 लीटर दूध देती है।

5. हरियाणवी नस्ल की गाय

हरियाणवी नस्ल की गाय का मूल स्थान हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश का क्षेत्र है। इसका रंग ज्यादातर सफेद होता है। दूध के मामले में मध्यम गाय है। यह करीब 8 से 12 लीटर दूध देती है।

6. काकंरेज गाय

Kankrej cow at Dadijifoods.online

काकंरेज गाय की नस्ल एक उत्तम भारतीय नस्ल है। इसका मूल स्थान गुजरात और राजस्थान है। इसका रंग सफेद, काले और भूरा होता है। यह 5 से 10 लीटर तक दूध देती है।

7. हालिकार गाय

Hallikaru at Dadijifoods.online

हालिकर गाय का मूल स्थान भारत है। यह कर्नाटक राज्य के मैसूर में सर्वाधिक पाई जाती है। दूध देने में भी यह गाय काफी अच्छी है। इसका रंग ज्यादातर सफेद या काला होता है।

8. खिलारी गाय

Khilari at Dadijifoods.online

भारतीय देसी नस्ल की गाय खिलारी का मूलस्थान कर्नाटक और महाराष्ट्र राज्य है। यह करीब 3 से 5 लीटर दूध देती है। इसका रंग खाकी जैसा होता है।

9. कंगायम गाय

Kangayam at Dadijifoods.online

कंगायम गाय का मूल स्थान भारत का तमिलनाडु राज्य है। इसका रंग काले निशान के साथ भूरा या सफेद होता है। यह गाय कम दूध देती है लेकिन लम्बे समय तक देती है।

10. बरगुर गाय

Baragur at Dadijifoods.online

तमिलनाडु राज्य के इरोड जिले के भवानी तालुक में बरगूर हिल्स में पाई जाने के कारण इस गाय का नाम बरगुर पड़ा। यह दूध कम देती है। लेकिन इसके बैल बहुत मजबूत और अच्छे होते है। इसका रंग भूरे या लाल रंग के साथ सफेद पैच होते है।

Leave a Reply